Select Page
नियति आपको वही देती है, जिसके आप योग्य हैं।

नियति आपको वही देती है, जिसके आप योग्य हैं।

नियति आपको वही देती है, जिसके आप योग्य हैं। प्रश्न –   अष्टावक्र कहते हैं कि जीवन में सुव्यवस्था बनाये रखने के लिए और जीवन की सुरक्षा के लिए थोड़े डर की आवश्यकता है। जरुरत से ज्यादा डर मन और शरीर को घेर लेता है। मुख्य डर शरीर को खोने का होता है। सार यह है कि...